कौन बनेगा नन्हा कलाम ?

सपने वो नहीं, जो आप सोते समय देखते हैं, सपने वो हैं, जो आप को सोने नहीं देते |

माध्यमिक शिक्षा एवं बेशिक शिक्षा विभाग गोरखपुर तथा जिला विज्ञान क्लब गोरखपुर द्धारा मिलकर जनपद के छात्र /छात्राओं मैं वैज्ञानिक सोच एवं विज्ञान के क्षेत्र मैं अभिनव प्रयोग ” कौन बनेगा नन्हा कलाम ” योजना प्रारम्भ की जा रही हैं | मुझे आशा ही नहीं अपितु विश्वाश हैं की यह योजना निश्चित रूप से जनपद के छात्र/छात्राओं को विज्ञान के प्रति जिज्ञासु एवं खोजपरक बनने में सहायक सिद्ध होगी |
“नन्हा कलाम” क्यों?

देश सदा देश के नागरिको की निजी सफलता से ऊँचा होता है | कलाम की वैज्ञानिक सोच का सीधा अर्थ भी यही था | वे चाहते थे कि देश के हर बच्चे के अन्दर छिपी हुई अनन्त संभावनाओं को विकसित करने की एक अन्तदृष्टि उत्पन्न की जा सके |

इस प्रकार जनपद गोरखपुर में संचालित “कौन बनेगा नन्हा कलाम” एक अभियान प्रेरित कार्यक्रम के रूप में कार्य करेगा | भले ही यह देखने में सीमित सा प्रतीत हो परन्तु इसका उद्देश्य अत्यन्त बृहद होगा | यह इस इच्छाशक्ति के साथ लागू होगा की प्रतिस्पर्धा और आविष्कारक मनोभावों का जन्म किशोरवय के बच्चों मे जितनी जल्दी हो सके, उतना अच्छा है | ताकि स्वास्थ्या-रक्षा, चिकित्सा, ऊर्जा-संरक्षण, पर्यावरण-उन्मूलन, स्वच्छता-मिशन, कौशल-विकास, ई-प्रशासन के क्षेत्र में देश से जुड़ा जनपद का भविष्य कहीं पिछड न जाय |

यहाँ के किसान अपने उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार कर विश्व-बाज़ार की स्पर्धा में अपने को मजबूती से खड़ाकर बेचारगी गरीबी के अभिशाप से बच निकलें और खुशहाल जीवन जी सकें तभी “नन्हा कलाम” का सांकेतिक संकल्प सिद्ध हो सकेगा |

गोरखपुर के मुख्य स्थान
नन्हा कलाम से जुड़ने के लिए नीचे दिए गये नंबर पर संपर्क करे